Sad Shayari

Benaam Dard : Sad Shayari

Benaam sa ye dard Thehar kyun nahi jaata
बेनाम सा ये दर्द ठहर क्यों नहीँ जाता
jo beet gaya hai vo guzar kyun nahi jaata
जो बीत गया है वो गुज़र क्यों नहीँ जाता


Dard-Ae-Ishq : Sad Shayari

Mere ham-nafas mere ham-nava mujhe dost ban ke daga na de
मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के देगा न दे
main hoon dard-e-ishq se jan-ba-lab mujhe zindagi ki dua na de
मैं हूँ दर्द-इ-इश्क़ से जान-बा-लैब मुझे ज़िन्दगी की दुआ न दे


Dard bhari Shayari

Bheed mein bhi tanha rehhna mujhko Sikha Diya
भीड़ में भी तन्हा रहना मुझको सिखा दिया,
Teri mohabbat ne duniya ko jhootha kehnaa sikha diya,
तेरी मोहब्बत ने दुनिया को झूठा कहना सिखा दिया,
Kisi dard ya khushi ka ehsaas Nahin Hai Ab Toh,
किसी दर्द या ख़ुशी का एहसास नहीं है अब तो,
Sab kuch zindagi ne Chup-Chaap Sehna Sikha Diya.
सब कुछ ज़िन्दगी ने चुप-चाप सहना सिखा दिया।


Dawa-ae-dard

Dard ho dil mein to davaa kiije
दर्द हो दिल में तो दवा कीजे
aur jo dil hi na ho to kya kiije
और जो दिल ही न हो तो क्या कीजे



Teri Mohabbat : Dard Bhari Shayari

ᴛᴇʀɪ ᴍᴏʜᴀʙʙᴀᴛ ᴍᴇɪɴ ʜᴀᴍ ʙᴀɪᴛʜᴇɴ ʜᴀɪɴ ᴄʜᴏᴛ ᴋʜᴀʏ,
तेरी मोहब्बत में हम बैठें हैं चोट खाए
ᴊɪsᴋᴀ ʜɪsᴀʙ ɴᴀ ʜᴏ sᴀᴋᴇ ᴜᴛɴᴇ ᴅᴀʀᴅ ʜᴀᴍɴᴇ ᴘᴀʏᴇ,
जिसका हिसाब न हो सके उतने दर्द हमने पाये,
ᴘʜɪʀ ʙʜɪ ᴛᴇʀᴇ ᴘʏᴀʀ ᴋɪ ᴋᴀsᴀᴍ ᴋʜᴀᴋᴇ ᴋᴀʜᴛᴀ ʜᴏᴏɴ,
फिर भी तेरे प्यार की कसम खाके कहता हूँ
ʜᴀᴍᴀʀᴇ ʟᴀʙ ᴘᴀʀ ᴛᴇʀᴇ ʟɪʏᴇ sɪʀғ ᴀᴜʀ sɪʀғ ᴅᴜᴀ ᴀᴀʏᴇ.
हमारे लब पर तेरे लिये सिर्फ और सिर्फ दुआ आये।


Mohabbat Nibhane ki Saza : Sad Shayari

Rone ki Sazaa na rulaane ki saja hai
रोने की सज़ा न रुलाने की सज़ा है;
Ye dard mohabbat nibhane ki saja hai
ये दर्द मोहब्बत को निभाने की सज़ा है;
Haste hai toh aankho se nikal jate hai aansu
हँसते हैं तो आँखों से निकल आते हैं आँसू
Ye us shaks se dil lagane ki saja hai
ये उस शख्स से दिल लगाने की सज़ा है।

Dard-Ae -Dastaan : Sad Shayari

Ai mohabbat tire anjam pe rona aaya
ऐ मोहब्बत टायर अंजाम पे रोना आया
jaane kyun aaj tere naam pe rona aaya
जाने क्यों आज तेरे नाम पे रोना आया


Dil ke dard ka shayara andaaz : Sad Shayari

Dil mera jo agar roya na hota
दिल मेरा जो अगर रोया न होता
Humne bhi aankho ko bhigoya na hota
हमने भी आँखों को भिगोया न होता
Do pal ki hasi mei chupa leta ghamo ko
दो पल की हँसी में छुपा लेता ग़मों को
Khwaab ki haqiqat ko jo sanjoya ni hota
ख़्वाब की हक़ीक़त को जो संजोया नहीं होता।


Dard-Ae-Dil ki Dawa : Sad Shayari

Dard aisa hai ki ji chahe hai zinda rahiye
दर्द ऐसा है की जी चाहे है ज़िंदा रहिये
zindagi aisi ki mar jaane ko ji chahe hai
ज़िन्दगी ऐसी की मर जाने को जी चाहे है
ʀᴏᴊ ᴘɪʟᴀᴛᴀ ʜᴜ ᴇᴋ ᴢᴇʜᴇʀ ᴋᴀ ᴘʏᴀʟᴀ ᴜsᴇ,
रोज़ पिलाता हूँ एक ज़हर का प्याला उसे,
ᴇᴋ ᴅᴀʀᴅ ᴊᴏ ᴅɪʟ ᴍᴇɪɴ ʜᴀɪ ᴍᴀʀᴛᴀ ʜɪ ɴᴀʜɪ ʜᴀɪ.
एक दर्द जो दिल में है मरता ही नहीं है।
ᴅᴀʀᴅ ᴍᴏʜᴀʙʙᴀᴛ ᴋᴀ ᴀɪ ᴅᴏsᴛ ʙᴀʜᴜᴛ ᴋʜᴏᴏʙ ʜᴏɢᴀ,
दर्द मोहब्बत का ऐ दोस्त बहुत खूब होगा
ɴᴀ ᴄʜᴜʙʜᴇɢᴀ | ɴᴀ ᴅɪᴋʜᴇɢᴀ | ʙᴀs ᴍᴀʜsᴏᴏs ʜᴏɢᴀ.
न चुभेगा | न दिखेगा | बस महसूस होगा।

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *