Sad Shayari

Ashq or Dil Ki dastaan

Rone vaale tujhe rone kaa saliqa hi nahi
रोने वाले तुझे रोने का सलीक़ा ही नहीँ
ashk piine ke liye hain ki bahane ke liye
अश्क पीने के लिए हैं की बहाने के लिए


Dil Ka Dard : Shayari

Dil ka saara dard simat aaya hai meri palkon mein
दिल का सारा दर्द सिमट आया है मेरी पलकों में
kitne taj-mahal Doobenge paani ki in boondo mein
कितने ताज-महल डूबेंगे पानी की इन बूंदो में


Dard-Ae-Dil ki Aadat : Shayari

ᴊᴀᴀɴ ɢᴀʏᴀ ᴡᴏ ʜᴀᴍᴇɴ ᴅᴀʀᴅ ᴍᴇɪɴ ʙʜɪ ᴍᴜsᴋᴜʀᴀɴᴇ ᴋɪ ᴀᴀᴅᴀᴛ ʜᴀɪ,
जान गया वो हमें दर्द में भी मुस्कुराने की आदत है,
ɪsᴀʟɪʏᴇ ᴡᴏ ʀᴏᴢ ɴᴀʏᴀ ᴅᴜʜᴋʜ ᴅᴇᴛᴀ ʜᴀɪ ᴍᴇʀɪ ᴋʜᴜsʜɪ ᴋᴇ ʟɪʏᴇ. इसलिए वो रोज़ नया दुःख देता है मेरी ख़ुशी के लिए।
ɪʟᴀᴀᴊ-ᴇ-ᴅᴀʀᴅ-ᴇ-ᴅɪʟ ᴛᴜᴍsᴇ ᴍᴇʀᴇ ᴍᴀsᴇᴇʜᴀ ʜᴏ ɴᴀʜɪ sᴀᴋᴛᴀ,
इलाजे-दर्दे-दिल तुमसे मेरे मसीहा हो नहीं सकता
ᴛᴜᴍ ᴀᴄʜʜᴀ ᴋᴀʀ ɴᴀʜɪ sᴀᴋᴛᴇ ᴍᴀɪɴ ᴀᴄʜʜᴀ ʜᴏ ɴᴀʜɪ sᴀᴋᴛᴀ.
तुम अच्छा कर नहीं सकते मैं अच्छा हो नहीं सकता।


Aansu

Ek aansu ne Duboya mujh ko un ki bazm mein
एक आंसू ने डुबोया मुझ को उन की बज़्म में
boond bhar paani se saari aabru paani hui
बूँद भर पानी से साड़ी आबरू पानी हुई


Kuch dard hai jo lafzo me ni utaare jaate : Shayari

ᴋʜᴀᴍᴏsʜʏɪᴀɴ ᴋᴀʀ ᴅᴇᴛɪ ʙᴀʏᴀᴀɴ ᴛᴏʜ ᴀʟᴀɢ ʙᴀᴀᴛ ʜᴀɪ,
खामोशियाँ कर देतीं बयान तो अलग बात है
ᴋᴜᴄʜʜ ᴅᴀʀᴅ ʜᴀɪɴ ᴊᴏ ʟᴀғᴢᴏ ᴍᴇɪɴ ᴜᴛᴀᴀʀᴇ ɴᴀʜɪ ᴊᴀᴛᴇ.
कुछ दर्द हैं जो लफ़्ज़ों में उतारे नहीं जाते।
ᴀᴀɴᴋʜᴏɴ ᴍᴇɪɴ ᴜᴍᴀᴅ ᴀᴀᴛᴀ ʜᴀ ʙᴀᴀᴅᴀʟ ʙᴀɴ ᴋᴀʀ,
आँखों में उमड़ आता है बादल बन कर,
ᴅᴀʀᴅ ᴇʜsᴀᴀs ᴋᴏ ʙᴀɴᴊᴀʀ ɴᴀʜɪ ʀᴀʜɴᴇ ᴅᴇᴛᴀ.
दर्द एहसास को बंजर नहीं रहने देता।


Dard-Ae-Dil ka Tajurba : Shayari

Kya Baat Sikhai Hai Tajurbe Ne Hame
क्या बात सिखाई है तजुर्बे ने हमें
Ek Naya Dard Hi Purane Dard Ki Dawayi Hai.
एक नया दर्द ही पुराने दर्द की दवाई है.


Dard Dil mei rahe

ɪss ᴛᴀʀᴀʜ ᴍᴇʀɪ ᴛᴀʀᴀғ ᴍᴇʀᴀ ᴍᴀsᴇᴇʜᴀ ᴅᴇᴋʜᴇ,
इस तरह मेरी तरफ मेरा मसीहा देखे,
ᴅᴀʀᴅ ᴅɪʟ ᴍᴇɪɴ ʜɪ ʀᴀʜᴇ ᴀᴜʀ ᴅᴀᴠᴀᴀ ʜᴏ ᴊᴀʏᴇ.
दर्द दिल में ही रहे और दवा हो जाए।


Aansu ka samundar : Shayari

Ek aansu bhi hukumat ke liye ḳhatra hai
एक आंसू भी हुकूमत के लिए खतरा है
tum ne dekha nahi aankho ka samundar hona
तुम ने देखा नहीँ आँखों का समुन्दर होना


Sad Shayari

Muddat ke baad us ne jo ki lutf ki nigah
मुद्दत के बाद उस ने जो की लुत्फ़ की निगाह
jee ḳhush to ho gaya magar aansu nikal padey
जी खुश तो हो गया मगर आंसू निकल पड़े


Dard-Ae-Dil Ghazal

ᴘᴜᴄʜʜᴏɢᴇ ᴛᴏ ᴋʜᴜʟ ᴊᴀᴇɢɪ ᴢᴀᴋʜᴍᴏɴ ᴋɪ ᴢᴀʙᴀɴ ᴀᴜʀ
पूछोगे तो खुल जाएगी ज़ख्मों की ज़बान और
ᴘᴜʀsʜɪsʜ ᴛᴏ ɢᴜᴢᴀʀᴛɪ ʜᴀɪ ɢʜᴀᴍ-ᴇ-ᴅɪʟ ᴘᴇ ɢɪʀᴀɴ ᴀᴜʀ
पुर्शीष तो गुज़रती है ग़म-इ-दिल पे गिरन और
ᴍᴀɴᴢᴜʀ ᴊᴀʟᴀɴᴀ ʜᴀɪ ᴛᴏ ᴇᴋ ʙᴀʀ ᴊᴀʟᴀ ᴅᴏ
मंज़ूर जलना है तो एक बार जला दो
ʏᴜɴ ᴅɪʟ ᴋᴇ sᴜʟᴀɢɴᴇ sᴇ ᴛᴏ ᴜᴛʜᴛᴀ ʜᴀɪ ᴅʜᴜᴀɴ ᴀᴜʀ
यूँ दिल के सुलगने से तो उठता है धुआं और
ᴋʜᴀᴍᴏsʜɪ ɴᴇ ʀᴜsᴡᴀɪ ᴋᴇ ɢᴜʟ ᴀᴜʀ ᴋʜɪʟᴀᴇ
ख़ामोशी ने रुस्वाई के गुल और खिलाए
ᴅᴀғɴᴀʏᴀ ᴍᴏʜᴀʙʙᴀᴛ ᴋᴏ ᴛᴏ ᴜʙʜʀᴇ ʜᴀɪɴ ɴɪsʜᴀɴ ᴀᴜʀ
दफनाया मोहब्बत को तो उभरे हैं निशान और
ᴜs ᴊᴀɪsᴀ ᴢᴀᴍᴀɴᴇ ᴍᴇɪɴ ᴋᴏɪ ᴇᴋ ᴛᴏ ʜᴏᴛᴀ
उस जैसा ज़माने में कोई एक तो होता
ᴜs ᴅᴀʀ sᴇ ᴜᴛʜᴇɴ ᴜᴛʜ ᴋᴇ ᴍᴀɢᴀʀ ᴊᴀᴇɴ ᴋᴀʜᴀɴ ᴀᴜʀ
उस दर से उठें उठ के मगर जाएं कहाँ और
ᴄʜᴜᴍᴇɢᴀ ᴛᴇʀᴇ ᴘᴀɴᴡ ᴋᴏ ᴋʜᴜᴅ ᴍᴀʀᴋᴀᴢ-ᴇ-ᴜᴍᴍɪᴅ
चूमेगा तेरे पांव को खुद मरकज़-इ-उम्मीद
ʜᴀɴ ʀᴀǫs ᴍᴇɪɴ ᴀᴀ ʀᴀǫs ᴍᴇɪɴ ᴀᴀ ᴜᴍʀ-ᴇ-ʀᴀᴡᴀɴ ᴀᴜʀ
हाँ रक़्स में आ रक़्स में आ उम्र-इ-रवां और
ᴛᴀ-ᴜᴍʀ sᴜɴᴀ ᴋɪᴊɪʏᴇ ᴀʙ ɴᴀɢʜᴍᴀ-ᴇ-ᴋʜᴀᴍᴏsʜ
ता-उम्र सुना कीजिये अब नग़मा-इ-खामोश
ᴋᴀʜᴛᴇ ɴᴀ ᴛʜᴇ ɴᴀᴢᴜᴋ ʜᴀɪ ɴᴀ ᴄʜʜᴇᴅᴏ ʀᴀɢ-ᴇ-ᴊᴀᴀɴ ᴀᴜʀ
कहते न थे नाज़ुक है न छेड़ो राग-इ-जान और


Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *