love shayari

Love Shayari

Love encompasses a range of strong and positive mental and emotionall states, the deepest interpersonal affection and to the simplest pleasure. Its one of the purest feeling in Universe. Her we compiled best shayari ghazal on Love. So here is a list of Love Shayari. Hope you would like it

log kehte hain ki tu ab bhi ḳhafa hai mujh se
लोग कहते हैं की तू अब भी ख़फ़ा है मुझ से
teri aankho ne to kuchh aur kaha hai mujh se
तेरी आँखों ने तो कुछ और कहा है मुझ से

Ishq Shayari

aur bhi dukh hain zamane mein mohabbat ke siva
और भी दुःख हैं ज़माने में मोहब्बत के सींवा
raaten aur bhi hain vasl kī rahat ke siva
रातें और भी हैं वस्ल की रहत के सींवा

Love Shayari

ujaale apni yaadon ke hamare saath rahne do
उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो
na jaane kis gali men zindagi kī shaam ho jaaye
न जाने किस गली में ज़िन्दगी की शाम हो जाए


ik roz khel khel mein hum us ke ho gae
इक रोज़ खेल खेल में हम उस के हो गए
aur phir tamaam umar kisi ke nahi hue
और फिर तमाम उम्र किसी के नहीँ हुए

Ishq Shayari

ab ke ham bichhde to shayad kabhi ḳhwaabo mein miley
अब के हम बिछड़े तो शायद कभी ख्वाबो में मिले
jis tarah sookhe hue phool kitaabon mein milen
जिस तरह सूखे हुए फूल किताबों में मिलें

Love Shayari

ranjish hi sahi dil hi dukhane ke liye aa
रंजिश ही सही दिल ही दुखने के लिए आ
aa phir se mujhe chhod ke jaane ke liye aa
आ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिए आ

Love Shayari

sab ik chiraag ke parvaane hona chahte hain
सब इक चिराग के परवाने होना चाहते हैं
ajiib log hain divaane hona chahte hain
अजीब लोग हैं दीवाने होना चाहते हैं

Romantic Shayari

ham tere shauk mein yoon ḳhud ko ganwaa baithe hain
हम तेरे शौक में यूं त्योहर को गंवा बैठे हैं
jaise bachche kisi tyohaar mein gum ho jaaye
जैसे बच्चे किसी त्यौहार में गुम हो जाए

Ishq Shayari

kabhi ronaa kabhi hasnaa kabhi hairaan ho jaana
कभी रोना कभी हँसना कभी हैरान हो जाना
mohabbat bi kya bhale-changge ko divaana banati hai
मोहब्बत बी क्या भले-चंग्गे को दीवाना बनती है

Ishq Shayari

main aa gay hoon vahan tak tere tamanna mein
मैं आ गे हूँ वहां तक तेरे तमन्ना में
jahan se koi bhi imkan-e-vapsi na rahe
जहाँ से कोई भी इमकान-इ-वापसी न रहे

Ishq Shayari

In Aankhon Ki Masti : Ishq Ghazal

in aankhon ki masti ke mastane hazaron hain
इन आँखों की मस्ती के मस्ताने हज़ारों हैं
in aankhon se wabasta afsane hazaron hain
इन आँखों से वाबस्ता अफ़साने हज़ारों हैं
ek tum hi nahin tanha ulfat mein meri ruswa
एक तुम ही नहीं तनहा उल्फत में मेरी रुस्वा
is shahr mein tum jaise diwane hazaron hain
इस शहर में तुम जैसे दीवाने हज़ारों हैं
ek sirf hamin mai ko aankhon se pilate hain
एक सिर्फ हमीं मई को आँखों से पिलाते हैं
kahne ko to duniya mein mai-Khaane hazaron hain
कहने को तो दुनिया में मई-खाने हज़ारों हैं
is sham-e-farozan ko aandhi se Daraate ho
इस शाम-इ-फ्रोज़न को आंधी से डराते हो
is sham-e-farozan ke parwane hazaron hain
इस शाम-इ-फ्रोज़न के परवाने हज़ारों हैं


ye ishq nahin asaan itna hi samajh liije
ये इश्क़ नहीं आसान इतना ही समझ लीजे
ik aag ka dariya hai aur Doob ke jaana hai
इक आग का दरिया है और डूब के जाना है


dil mein na ho jurrat to mohabbat nahin milti
दिल में न हो जुर्रत तो मोहब्बत नहीं मिलती
ḳhairaat mein itni badi daulat nahi milti
खैरात में इतनी बड़ी दौलत नहीँ मिलती

Love shayari

tum mere liye ab koi ilzaam na Dhoondo
तुम मेरे लिए अब कोई इलज़ाम न ढूंढो
chaaha tha tumhein ik yahi ilzaam bahut hai
चाहा था तुम्हें इक यही इलज़ाम बहुत है

Love Shayari

zara si baat se hee tera yaad aa jaana
ज़रा सी बात से ही तेरा याद आ जाना
zara si baat bahut der tak rulati thi
ज़रा सी बात बहुत देर तक रुलाती थी

Love shayari

Ishq Ghazal

ek ek lamha guzara ja raha hai hosh mein
एक एक लम्हा गुज़ारा जा रहा है होश में
ai zahe-qismat jo hain tufan ki aaghosh mein
ै ज़हे-क़िस्मत जो हैं तूफान की आग़ोश में
ab ye aalam hai hamara bandagi ke josh mein
अब ये आलम है हमारा बंदगी के जोश में
ek sajda be-KHudi mein ek sajda hosh mein
एक सजदा बे-खुदी में एक सजदा होश में
maslahat kuchh bhi na kahne de to is ka kya ilaj
मस्लहत कुछ भी न कहने दे तो इस का क्या इलाज
jaane kitni dastanen hain lab-e-KHamosh mein
जाने कितनी दास्तानें हैं लैब-इ-खामोश में
uf ye sailab-e-hawadis hae ye tufan-e-gham
उफ़ ये सैलाब-इ-हवादिस है ये तूफान-इ-ग़म
yun bhi lata hoga diwane ko koi hosh mein
यूँ भी लता होगा दीवाने को कोई होश में
Dar hai ahl-e-karwan ki tezi-e-raftar se
दर है अहल-इ-कारवां की तेज़ी-इ-रफ़्तार से
apni manzil bhi na kho baiThen kisi din josh mein
अपनी मंज़िल भी न खो बैठें किसी दिन जोश में
samne mahshar ho ya kaunain chahe kuchh bhi ho
सामने महशर हो या कौनैं चाहे कुछ भी हो
un ka diwana to ab aata nahin hai hosh mein
उन का दीवाना तो अब आता नहीं है होश में
‘kaif’ se puchhe koi tere karam ki wusaten
‘कैफ’ से पूछे कोई तेरे करम की वुसअतें
us ne dekha hai do-alam ko teri aaghosh mein
उस ने देखा है दो-आलम को तेरी आग़ोश में


saari duniya ke ġham hamare hain
सारी दुनिया के गम हमारे हैं
aur sitam ye ki ham tumhare hain
और सितम ये की हम तुम्हारे हैं

Ishq Mohabbat Shayari

Love Shayari Images